12 month One Million-book Summery In Hindi

दोस्तों एक मिलियन डॉलर्स 12 महीने में कैसे कमाए जा सकते हैं? वे इसका अनसर टु बी वेरी ऑनेस्ट काफी सिंपल है। लेकिन सिम्पल चीज़ जरूरी नहीं है। आसान भी होती है जैसे की फॉर एग्ज़ैम्पल। अगर आपको वन मिलियन डॉलर्स कमाना है तो इसके कई सारे तरीके हैं।
अच्छा, अगर समझने के लिए वन मिलियन डॉलर्स को मैं 1,00,00,000 से रिप्लेस कर दूँ तो देखो अगर आपको 1,00,00,000 कमाना है तो आप कई सारी चीजें कर सकते हो। जैसे की फॉर एग्ज़ैम्पल अगर आप ₹10 की चीज़ है, 10,00,000 लोगों को बेचोगे तो आप 1,00,00,000 कमा लोगे।
अगर आप ₹100 की चीज़ 1,00,000 लोगों को बेचोगे तो भी 1,00,00,000 कमा लोगे। या फिर अगर ₹1000 की चीज़ 10,000 लोगों को बेचते हो तो भी 1,00,00,000 हो जाता है और ऐसी पूरा चार्ट आप देख सकते हो ऑन द अदर हैंड ये तो मैं सिर्फ एक प्रॉडक्ट की बात कर रहा हूँ
अगर आप मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स रेट करते हो जैसे की फॉर एग्जाम्पल। अगर आप पांच अलग अलग प्रोडक्ट्स क्रिएट कर लेते हो और उन पांच प्रोडक्ट्स के 25 यूनिट को भी बेचते हो तो मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स क्रेडिट करके भी आप वन मिलियन डॉलर्स तक पहुँच सकते हो ना और ये नहीं,
ये चीज़ को एक्चुअल में करा भी है। वो अपनी बुक 12 मंथ्स टू वन मिलियन में स्टेप बाई स्टेप प्रोसेसर समझा रहे है की कैसे आप बिज़नेस स्टार्ट कर सकते हो और सेवन, फिगर इनकम तो जेनरेट कर सकते हो।
इन लेस देन 365 डेस। अगर आपको नहीं पता तो बता दूँ ऑथर रिमोरिन जो थे ना उन्होंने सिर्फ 24 साल की उम्र में ही मल्टिपल कंपनी के फाउंडर बन चूके हैं। एक तरफ जहाँ पे 24 साल के लोग ये फिगर आउट ही नहीं कर पाते, उन्हें जिंदगी में करना क्या है?
वहीं दूसरी तरफ रेयान इस टाइम पे ही एक मिलर बन चूके थे। उनके दो सक्सेसफुल स्टार्टअप्स को उन्होंने मिलियन डॉलर्स मेल भी कर दिया था, जिससे वो एक अच्छी लाइफ जी रहे थे और ये एक चीज़ कर पाने की जो स्ट्रैटिजी टैक्टिक्स थी,
उसे ही चलो समझने की कोशिश करते हैं। उनकी स्टोरी के थ्रू अपना फर्स्ट बिज़नेस वेंचर जैन ऐक्टिव स्पोट्स नाम का चालू किया था। तो वहाँ पे वो योगा, मैट स्टॉल्स और बहुत सारी चीज़े सेल करते थे।
ना ये चीज़ फिजिकल बिज़नेस था ना ये जो फिजिकल बिज़नेस था वो एक्चुअल में लॉस मेकिंग बिज़नेस था, क्योंकि उनको हमेशा इन्वेन्टरी एंप्लॉयीज की सैलरी ऐडवर्टाइजमेंट ऐसे कई सारी चीजों के पीछे काफी खर्चा करना पड़ता था, जिसकी वजह से उनके पैसे हमेशा खत्म हो जाते थे, जो उनकी काफी बड़ी गलती हुई थी।
उन्होंने बोला उनके पास बिज़नेस करने का कुछ स्ट्रक्चर एक गेम प्लान नहीं था। वो बस अपने मन के हिसाब से चीज़े करते जा रहे थे और ये चीज़ ही उनको बहुत भारी पड़ रही थी। इन फैक्ट वो अपने सारे पैसे बिज़नेस में इन्वेस्ट कर देते थे
जिसके वजह से तो कई बार घर का रेंट भी नहीं भर पाते थे और इसी वजह से उन्हें अपने फ्रेंड के घर पे भी सोना पड़ता था। रहना पड़ता था बट फिर उन्होंने कुछ इंट्रेस्टिंग चीज़ की।
उन्होंने अपने ज़ेन ऐक्टिव स्पोर्ट्स को फंड करने के लिए फ्रीडम फास्टली नाम का एक पोर्ट कास्ट करना स्टार्ट किया जहाँ पे वो पर्सनैलिटी ज़ जो बिज़नेस के डोमेन में अच्छा पैसा कमा रहे थे,
कई बिज़नेस है। सक्सेस्स्फुल्ली रन कर रहे थे। उन्होंने उन्हें अपने पॉडकास्ट में होस्ट करना चालू किया। ऐसे कई सारे इन्फॉर्मेशन पर्सनैलिटी से विज़्डम गेन करते करते उन्होंने अपने ज़ोन ऐक्टिव स्पॉट्स को ऐमज़ॉन पर लॉन्च किया,
जिसके बाद उन्होंने अच्छे अच्छे लोगों से सिक्के सिस्टम प्रोसेसर बनाए और इस चीज़ नहीं है उनके लॉस मेकिंग बिज़नेस को फिर प्रॉफिटेबल भी बना दिया और इससे पहले की ये जो कंपनी थी वो वन मिलियन डॉलर्स का रेवेन्यू हिट करती।
उससे पहले एक बहुत बड़ी फर्म थी प्राइवेट इक्विटी फर्म। उसने रेयान को पैसे दिए और इस कंपनी को खरीद ली। यहीं से उनकी जो बनने की जर्नी थी ना वो हिट होना स्टार्ट हुई ज़ैन ऐक्टिव स्पोर्ट्स को सेल्फ करने के बाद उन्होंने अपनी सेकंड स्पोर्ट्स और न्यूट्रिशन कंपनी लॉन्च करें,
जिसमें वो प्री वर्कआउट सेल करते थे। ना ये बिज़नेस को भी स्केल करने के लिए उन्होंने इसे एक प्राइवेट कंपनी को भेज दिया, जिसके बाद ही स्टार्टेड वर्किंग ऑन थिस थर्ड वेन्चर ज्योति हेल्थ ऑइल से रिलेटेड और गैस वर्ड इसे भी उन्होंने प्रॉफिटेबल बनाया।
अब यहाँ पे सीखने वाली बात यही है की रेयान ने ऐसी कौन सी बिज़नेस सीखी, अप्लाइ कर ली जिसकी वजह से वो इतने सारे बिज़नेस खड़ा कर पा रहे थे और उसे बेच भी पा रहे थे,
वो भी बस कुछ ही महीनों में तो इसका पहला असर आता है व्हाइट लेबल प्रॉडक्ट। रेयान के सक्सेस का सबसे बड़ा सीक्रेट था की वो चाइना और वियतनाम पे जो ऑनलाइन वेबसाइट्स होती है
जैसे की अलीबाबा। वहाँ से वो लोगो कॉस्ट के प्रोडक्ट्स को मंगवाते थे बल्क में और फिर उसे ऐमज़ॉन पे अपने ब्रैंड का ठप्पा मर गए। हाइ प्रॉफिट्स में उसे बेचते थे।
और ये जो प्रोडक्ट्स होते है, जिसपे आप अपना ठप्पा लगा सकते हो, उन्हें व्हाइट लेबल प्रोडक्ट्स बोला जाता है। इसका क्लासिक एग्ज़ैम्पल है
माइक्रोमैक्स कंपनी का जो चाइना की प्राइवेट कंपनी से मोबाइल फ़ोन सिम पोर्ट करवा दी थी और उनके ऊपर माइक्रोमैक्स के ब्रांडिंग करके वो फ़ोन को सील कर देते थे। मतलब बेसिकली माइक्रोमैक्स कंपनी का कोई मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं था।
वो बस ब्रांडिंग करके सेल कर रहे थे और यही चीज़ उधर भी करते थे जो उनका नंबर वन सीक्रेट भी था। अगर हम वापस बुक की बात करें तो ये बुक को बेसिकली अगर नहीं, तीन स्टेजेस में डिवाइड कराया जो वो बोलते है, आपको फॉलो करना चाहिए। एक मिलियन डॉलर तक पहुंचने के लिए
पहला स्टेज होता है ग्राइंड स्टेज जो स्टार्टिंग के फ़र्स्ट से फोर्थ मंथ के लिए होता है। सेकंड स्टेज होता है ग्रोथ स्टेज ये पांच से नवें महीने तक होता है और थर्ड होता है गोल्ड जो होता है दसवें से बारहवां महीना ना ये तीनों स्टेज से अगर आपको गुजरना है
तो सबसे पहले तो आपको ये क्वेश्चन पूछना है की वो प्रॉडक्ट शुड आई सेल जिसे आप ग्राइंड स्टेज भी बोल सकते हो। पहला स्टेप ना यहाँ पे वो पॉल मिलर का एग्ज़ैम्पल बताता है।
पॉल मिलर एक सक्सेसफुल बिज़नेस मैन थे जिन्हें रात को ना बराबर नींद नहीं आती थी तो वो क्या करते थे, हेडफोन्स लगाकर पॉडकास्ट सुनते रहते थे। जिसे सुनते सुनते वो कई बार सो जाते थे।
लेकिन ये चीज़ करते वक्त उन्होंने रिलाइंस किया की हेड फोन्स का यूज़ करना? सोने के टाइम काफी अनकंफर्टेबल था और ऐसे हेड फोन्स की कई बार क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं होती थी। उन्हें लगा कि ये हेडफोन्स को ना बेटर बना सकते हैं।
इसलिए फिर उन्होंने कुछ क्वालिटीज में हेड फोन्स मंगवाए और उन्हें खोल के उनके ऑडियो, क्वालिटी और बिल्ड क्वालिटी को बेहतर बनाया। हेडफोन्स को एक्सपेरिमेंट करके और कंफर्टेबल बनाया ताकि
आप को सोते टाइम भी म्यूसिक या पोर्ट का सुनना हो तो आप कम्फर्टेबली से सुन सको बिना आपको प्रॉब्लम हुए और यहीं से जन्म हुआ नाम के स्लीपिंग हेड फोन्स का, जो उन्होंने फिर ऐमज़ॉन पे
करना स्टार्ट किया और गैस वर्ड ये चीज़ लोगो को इतनी पसंद आयी की फिर वो बेस्ट सेलिंग प्रॉडक्ट भी बन गया। ऐमज़ॉन पे ऐमज़ॉन पे आते ही उन्होंने कोसी फोन्स को बहुत बड़ी बड़ी
क्वांटिटी में सेल करना स्टार्ट किया और फिर 4 साल में बोलने को जी फोन्स को सिक्स मिलियन डॉलर का रेवेन्यू जेनरेट करवाया है ना ये चीज़ अमेज़िंग बट उन्होंने एक गलती कर दी। उन्होंने अपना प्रॉडक्ट का पेटेंट नहीं करवाया था,
जिसकी वजह से कई सारे कॉपीकैट स्ट्रैटिजी यूज़ करने वाले लोग आ गए, जो उनके प्रॉडक्ट को कॉपी करने लग गए थे। और ये चीज़ काफी कॉमन भी है जहाँ पे लोग किसी भी प्रॉडक्ट के हिट होने का वेट करते हैं और फौरन फिर उसे कॉपी करके वो ही प्रॉडक्ट को सस्ते दाम में बेचने लग जाते हैं।
जिसके वजह से कॉम्पटीशन बहुत बढ़ जाता है और ये चीज़ को बिट करने के लिए पॉल ने क्या किया पता है उन्होंने यहाँ वहाँ पे ज्यादा फोकस करने के बजाय उन्होंने बोला की मैं सिर्फ अपने प्रॉडक्ट को और बेहतर बनाने पर ध्यान दूंगा
जहाँ पे वो बेस्ट से बेस्ट अपना प्रॉडक्ट देंगे और कस्टमर्स को बेस्ट से बेस्ट सर्विस देंगे और इसी अजेंडा के साथ वो आगे बढ़ता रहे। उन्हें पता था अगर वो अपने प्रोडक्ट्स को बेहतर बनाते रहेंगे तो ईज़ी अपने कॉंपिटिटर्स को बिट कर देंगे।
उनके अच्छे रिव्यूज़ की वजह से ऐसे ही उन्होंने स्टार्टिंग में काफी ग्राइंड किया। अपने प्रॉडक्ट को अच्छा विन प्रॉडक्ट बनाने के लिए जीस चीज़ ने उन्हें मिलियन डॉलर कमा के दी।
और ऐसे ही कुछ आपको भी स्टार्टिंग में करना पड़ेगा। यहाँ पे आप देखो कि कौन सा प्रॉडक्ट आप बना सकते हो। ऐसी कौन सी मार्केट में नीड है जो आप खुद से मेहनत करके फुलफिल कर सकते हो, लोगों की जरूरतें पूरी कर सकते हो,
उसके ऊपर ग्राइंड करो। स्टार्टिंग में इट्स ऑल अबाउट द ग्राइंड अगर अच्छे से ग्राइंड करके अच्छा प्रॉडक्ट निकाल देते हो, फिर सेकंड आता है। क्रिएटा सिरीज़ ऑफ प्रोडक्ट्स एंड मेक 25 सेल्स पर दय जिसे बोलते है
ग्रोथ स्टेज एक बार ये आपका एक प्रॉडक्ट बन गया तो उसके बाद आपको मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स पे फोकस करना है। इसके एग्जाम्पल के लिए थरो बीमार कस का बताते हैं, जो एक्चुअल में एक है।
उन्होंने कई मल्टीप्ल वेन्चर्स ट्री किए थे। उनका जो फर्स्ट वेन्चर्स था टौ सन हैंगओवर सप्लिमेंट का उन्हें उसके अंदर ज़रा भी सक्सेस नहीं मिली थी। फुलफिलमेंट भी नहीं मिली थी।
बट गोइंग टु टाइम ओबरी बोलते है ना की वो टाइम में मैं रेडी ही नहीं था। मेरे पास उतनी इन्फॉर्मेशन नहीं थी और बहुत सारी चीज़ो में मैं लैक कर रहा था,
जबकि वो भी मुझे बहुत कुछ चीजें सिखाई। जैसे की तीन इम्पोर्टेन्ट चीज़ है जो मैंने सीखी। अपने से अपने प्रॉडक्ट के हिट ना होने से नंबर वन प्रॉडक्ट क्रिएट कैसे किया जाता है सेकंड उसे सेल कैसे किया जा सकता है और थर्ड उसका ऐड्वर्टाइज़िंग कैसे करें?
जाती हैं ये पूरे प्रोसेसर में उन्होंने बहुत सारे लोगों से नेटवर्क भी करा और नेटवर्क करते करते उनकी मुलाकात के नंबर वन पॉडकास्ट जो हीरो गन से हुई,
जो इन ऑपरेटरों को अपने स्पॉट कास्ट में इनवाइट किया और बातों ही बातों में ओबराय ने अपने टौंस के प्रोडक्ट्स को प्रोमोट कर दिया। जैसे ही जो इन्होंने पूछा कि वॉट आर यू इन टू?
ओबरी ने कहा आई मीन टू न्यू ट्रॉपिक्स बेसिकली एक सप्प्लिमेंट है जो आपके ब्रेन पावर मेमोरी मोटिवेशन फोकस को बूस्ट करता है। ना पॉडकास्ट में नोबरे नहीं बोल दिया की मैं पूरे वर्ल्ड में सबसे बेस्ट
टॉपिक्स बना सकता हूँ और यह बना के भी दिखाऊंगा तो उसी टाइम पे जॉइन है ओबीसी। ये प्रॉमिस लिया की आप है ना बेस्ट ऑन ट्रोपिक सप्लिमेंट बनाके दिखाओ।
इसके बाद ओबेरॉय ने बहुत सारे रिसर्च करिए, एक्सपेरिमेंट करें और एक बेस्ट प्रॉडक्ट बना भी दिया और प्रॉडक्ट बनाने के बाद उसे उन्होंने जो हीरोइन को टेस्ट करने के लिए दिया ना,
जो ही ने जब उसे ट्री किया तो उन्हें काफी पसंद भी आया। इसीलिए फिर उन्होंने के साथ पार्टनरशिप करने का डिसिजन लिया और वो अपने सप्लिमेंट को फिर अपने मिलियन फॉलोअर्स के सामने लेके आने लग गए जिसके बाद वो प्रॉडक्ट धड़ाधड़ धड़ाधड़ बिकने लग गया। इस प्रॉडक्ट का नाम था ऐल्फा ब्रेन
जो सेल्स थे। फिर उसकी रॉकेट होने लग गए। इतना ज्यादा ऑर्डर होने लग गया कि उनके पास इनवेंटरी ही नहीं बची और गैसफोर्ड। इसके बाद फिर उन्होंने अपना दूसरा प्रॉडक्ट लॉन्च किया।
ये जो दूसरा प्रॉडक्ट था वो रिलेटेड तो मूड था और इस प्रॉडक्ट का नाम उन्होंने रखा न्यू मूड जो बेसिकली आपका मूड इंप्रूव करने के लिए हेल्प कर सकता है।
आपको और यहीं से शुरुआत हुई ऑन इट नाम की कंपनी की, जिसके अंदर मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स को वो सेल करके मिलियन डॉलर्स कमा रहे हैं।
ऐसे ही सेकंड स्टेज मैं एक बार जब आपको समझ में आ जाता है कि एक प्रॉडक्ट कितना हिट हो सकता है तो ऐसे ही आप मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स क्रिएट करना स्टार्ट करो। उसी नीच से रिलेटेड
या उससे अलग भी चलेगा। बस अगर आपके पास मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स है जिसे आप सेल करोगे तो वो सारे कंबाइन करके आपको काफी अच्छा रेवेन्यू दे सकते हैं। आप ये चीजें आपको फोकस करना है पांचवें से नवें महीने तक और फिर आता है
लास्ट स्टेज जिसे बोलते है गोल्ड स्टेज जहाँ पे आप यूज़ कर सकते हो ऐडवर्टाइजमेंट का इस स्टेज पे आपका मैक्सिमम फोकस प्रॉडक्ट को एडवर्टाइज और मार्केट करने में होना चाहिए।
ये स्टेज में आपको गूगल ऐड्स, फेसबुक ऐड्स या किसी को पे करके अपने प्रॉडक्ट को जितना हो सकता है, उतना प्रोमोट करवाना चाहिए
ताकि उसे अच्छे से अच्छी मार्केटिंग हो सके और वो मिलन ऑफ कस्टमर्स तक रीच कर सके। यहाँ पे आपकी क्रेडिबिलिटी भी इस्टैब्लिश हो जाती है।
ये प्रोसेसर आपको कॉस्टली लगेगा। इस प्रोसेसर में आपको कॉन्स्टेंट ली री इनवेस्ट करना पड़ेगा ताकि आप उसे बड़े स्केल पे लेके जा सको और ज्यादा पैसे कमा सको ना स्टार्टिंग स्टेज में।
अगर आपने अच्छे से ग्राइंडिंग करी है, अच्छे प्रॉडक्ट क्रिएट किया है तो इस स्टेज में आपको काफी अच्छा रिवॉर्ड भी मिलेंगे और इसके साथ साथ आपको दो चीज़ और करनी है जो फ़ोर पॉइंट है।
लेकिन ये प्रॉडक्ट फॉर हाइर ट्री फिटनेस के ओनर किंग मैंने ऐमज़ॉन पे अपना प्रॉडक्ट रजिस्टर करके लिस्ट कर दिया था। ये एक सेलफोन आम बैंड प्रॉडक्ट था जो उन्होंने चाइना से व्हाइट लेबल किया था।
इसके लिए उन्होंने सिर्फ 400 प्रोडक्ट्स को इंपोर्ट करवाया था। क्योंकि उनको पहले पता करना था की ये प्रॉडक्ट सेल्फ कर भी सकते है की नहीं और कस्टमर रिव्यु सबसे इम्पोर्टेन्ट होते हैं।
इसलिए उन्होंने पहले कुछ ही प्रोडक्ट्स को इंपोर्ट करवाया फिर कस्टमर्स के आउटपुट लिए और उसके हिसाब से चेंज कर रहा है।
जैसे की फॉर एग्जाम्पल। पहले बैच में कस्टमर्स को आम बैन्डस बहुत छोटे लग रहे थे। दूसरे बैच में आमस बैंड का साइज काफी बढ़ा दिया गया था।
बट फिर ऐसे ही चेंज करते करते उन्हें परफेक्ट साइज भी मिल गया। ऐसे ही कस्टमर से फीडबैक लेते लेते उन्होंने ऐसा आम वेब डिजाइन कर दिया जो कस्टमर्स पहन के बहुत खुश थे और इसी तरीके से
जो ट्रिप फिटनेस के थे वो मार्केट प्लेस में एक यूनीक प्रॉडक्ट बन गया। ट्री फिटनेस से तीन महीने में ही उस 25 सेल्स पर डे के मैजिक नंबर को क्रॉस कर दिया। और ये सब कैसे हुआ?
जस्ट बिकॉज़ उन्होंने अपने पार्टनर के साथ बहुत सारे एक्सपेरिमेंट करें। अपने प्रोडक्ट्स को इम्प्रूव करा और साल के एंड में अपने कॉंपिटिटर्स के कंपैरिजन में 4% पॉज़िटिव रिव्यु ले लिए,
जिसने कई बार सारा गेम बदल दिया और लास्ट पॉइंट आता है सीक्रेट। ये एक सीक्रेट ने रेयान मोरिन को बनने में काफी हेल्प करी प्रॉडक्ट को होलसेल में खरीदते थे और ऐमज़ॉन
यहाँ पे रजिस्टर करके हाइ प्रॉफिट मार्जिन में बेच देते थे। अब ऐमज़ॉन एफबी क्या होता है तो बेसिकली ऐमज़ॉन एफबी पे। अगर आप एक सेलर रजिस्टर करते हो तो ऐमज़ॉन आपको स्टोरेज, फ्री शिपिंग, फास्ट डिलिवरी और बहुत सारी फैसिलिटीज प्रोवाइड करता है,
जिससे वो सिम्पली चीप रेट्स पे प्रॉडक्ट खरीदते हैं और फिर ऐमेज़ौन पे हाई मार्जिन पेरी सेल कर देते हैं और कहते हैं, इनीशियली आपको डिफिकल्टी जाएगी बहुत डीप रिसर्च करना, नॉलेज लेना ये सारी चीज़े होती रहेंगी।
लेकिन बस आपको वो मैजिक नंबर हमेशा याद रखना है जो है 25 सेल्स पर दय जिसका कॉस्ट होना चाहिए। इतना
और ये अगर आप कर लोगे तो आप उन मैजिक नंबर उसको अचीव कर लोगे। साल के एंड तक उससे पहले भी ना ये थी एक शॉर्ट्स मेरी 12 मंथ्स टु वन मिलियन डॉलर्स की।
अगर आप ऐसे ही बुक्स मरीज में इंट्रेस्टेड हो तो इस चैनल को सब्सक्राइब करके बेल्ल आइकॉन जरूर दबाना। मैं ऐसे ही अमेज़िंग समरी आपके लिए हर हफ्ते लेके आता रहूंगा।
प्लस अगर आपको अपने अंदर बुक रीडिंग की हैबिट को डालना है तो मैंने उस डिस्क्रिप्शन में बुक क्लब की लिंक भी दी है जो एकदम फ्री टु रजिस्टर है। वहाँ से जाके आप हमारी कम्युनिटी का पार्ट बन सकते हो।
जहा हम लोग कई सारी चीजें आपको फ्री में प्रोवाइड कर रहे हैं तो उसे भी जरूर चेक आउट करो। अभी के लिए बस इतना ही अगर आपको ये वीडियो पसंद आया तो लाइक, कमेंट शेयर जरूर करना।
ताकि हमारी जो बुक कम्यूनिटी है वो बढ़ सके लोगों में बुक पढ़ने का शौक पैदा हो सके जो काइंड ऑफ मेरा मिशन भी है मिशन इसलिए बिकॉज़ रीडिंग ने पर्सनली मेरी लाइफ को कंप्लीट्ली चेंज कर दिया है
हेल्थ वेल्थ लव एंड हैपिनेस हर सेगमेंट में मैं जानता हूँ कि अगर आप लोग भी रीड करना स्टार्ट करोगे तो ये एक हैबिट ये सिंगल कीस्टोन हैबिट आपकी लाइफ कम्पलीटली चेंज कर सकता है
इसलिए खुद भी रेड करो और दूसरे के अंदर भी रीडिंग की हैबिट डालो इस चैनल का पार्ट बन के हमारी कम्युनिटी का पार्ट बन के अभी के लिए बस इतना ही मिलता है नेक्सट वीडियो में एक समरी के साथ टिल देन बाइ
दोस्तों एक मिलियन डॉलर्स 12 महीने में कैसे कमाए जा सकते हैं? वे इसका अनसर टु बी वेरी ऑनेस्ट काफी सिंपल है। लेकिन सिम्पल चीज़ जरूरी नहीं है। आसान भी होती है जैसे की फॉर एग्ज़ैम्पल।
अगर आपको वन मिलियन डॉलर्स कमाना है तो इसके कई सारे तरीके हैं। अच्छा, अगर समझने के लिए वन मिलियन डॉलर्स को मैं 1,00,00,000 से रिप्लेस कर दूँ तो देखो अगर
आपको 1,00,00,000 कमाना है तो आप कई सारी चीजें कर सकते हो। जैसे की फॉर एग्ज़ैम्पल अगर आप ₹10 की चीज़ है, 10,00,000 लोगों को बेचोगे तो आप 1,00,00,000 कमा लोगे।
अगर आप ₹100 की चीज़ 1,00,000 लोगों को बेचोगे तो भी 1,00,00,000 कमा लोगे। या फिर अगर ₹1000 की चीज़ 10,000 लोगों को बेचते हो तो भी 1,00,00,000 हो जाता है और ऐसी पूरा चार्ट आप देख सकते हो ऑन द अदर हैंड ये तो मैं सिर्फ एक प्रॉडक्ट की बात कर रहा हूँ
अगर आप मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स रेट करते हो जैसे की फॉर एग्जाम्पल। अगर आप पांच अलग अलग प्रोडक्ट्स क्रिएट कर लेते हो और उन पांच प्रोडक्ट्स के 25 यूनिट को भी बेचते हो तो मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स क्रेडिट करके भी आप वन मिलियन डॉलर्स
तक पहुँच सकते हो ना और ये नहीं, ये चीज़ को एक्चुअल में करा भी है। वो अपनी बुक 12 मंथ्स टू वन मिलियन में स्टेप बाई स्टेप प्रोसेसर समझा रहे है की कैसे आप बिज़नेस स्टार्ट कर सकते हो और सेवन, फिगर इनकम तो जेनरेट कर सकते हो।
इन लेस देन 365 डेस। अगर आपको नहीं पता तो बता दूँ ऑथर रिमोरिन जो थे ना उन्होंने सिर्फ 24 साल की उम्र में ही मल्टिपल कंपनी के फाउंडर बन चूके हैं। एक तरफ जहाँ पे 24 साल के लोग ये फिगर आउट ही नहीं कर पाते,
उन्हें जिंदगी में करना क्या है? वहीं दूसरी तरफ रेयान इस टाइम पे ही एक मिलर बन चूके थे। उनके दो सक्सेसफुल स्टार्टअप्स को उन्होंने मिलियन डॉलर्स मेल भी कर दिया था, जिससे वो एक अच्छी लाइफ जी रहे थे और ये एक चीज़ कर पाने की जो स्ट्रैटिजी टैक्टिक्स थी,
उसे ही चलो समझने की कोशिश करते हैं। उनकी स्टोरी के थ्रू अपना फर्स्ट बिज़नेस वेंचर जैन ऐक्टिव स्पोट्स नाम का चालू किया था। तो वहाँ पे वो योगा, मैट स्टॉल्स और बहुत सारी चीज़े सेल करते थे।
ना ये चीज़ फिजिकल बिज़नेस था ना ये जो फिजिकल बिज़नेस था वो एक्चुअल में लॉस मेकिंग बिज़नेस था, क्योंकि उनको हमेशा इन्वेन्टरी एंप्लॉयीज की सैलरी ऐडवर्टाइजमेंट ऐसे कई सारी चीजों के पीछे काफी खर्चा करना पड़ता था,
जिसकी वजह से उनके पैसे हमेशा खत्म हो जाते थे, जो उनकी काफी बड़ी गलती हुई थी। उन्होंने बोला उनके पास बिज़नेस करने का कुछ स्ट्रक्चर एक गेम प्लान नहीं था।
वो बस अपने मन के हिसाब से चीज़े करते जा रहे थे और ये चीज़ ही उनको बहुत भारी पड़ रही थी। इन फैक्ट वो अपने सारे पैसे बिज़नेस में इन्वेस्ट कर देते थे जिसके वजह से तो कई बार घर का रेंट भी नहीं भर पाते थे
और इसी वजह से उन्हें अपने फ्रेंड के घर पे भी सोना पड़ता था। रहना पड़ता था बट फिर उन्होंने कुछ इंट्रेस्टिंग चीज़ की। उन्होंने अपने ज़ेन ऐक्टिव स्पोर्ट्स को फंड करने के लिए फ्रीडम फास्टली नाम का एक पोर्ट कास्ट करना स्टार्ट किया जहाँ पे वो पर्सनैलिटी ज़ जो बिज़नेस के डोमेन में अच्छा पैसा कमा रहे थे,
कई बिज़नेस है। सक्सेस्स्फुल्ली रन कर रहे थे। उन्होंने उन्हें अपने पॉडकास्ट में होस्ट करना चालू किया। ऐसे कई सारे इन्फॉर्मेशन पर्सनैलिटी से विज़्डम गेन करते करते उन्होंने अपने ज़ोन ऐक्टिव स्पॉट्स को ऐमज़ॉन पर लॉन्च किया, जिसके बाद उन्होंने अच्छे
अच्छे लोगों से सिक्के सिस्टम प्रोसेसर बनाए और इस चीज़ नहीं है उनके लॉस मेकिंग बिज़नेस को फिर प्रॉफिटेबल भी बना दिया और इससे पहले की ये जो कंपनी थी वो वन मिलियन डॉलर्स का रेवेन्यू हिट करती।
उससे पहले एक बहुत बड़ी फर्म थी प्राइवेट इक्विटी फर्म। उसने रेयान को पैसे दिए और इस कंपनी को खरीद ली। यहीं से उनकी जो बनने की जर्नी थी ना वो हिट होना स्टार्ट हुई ज़ैन ऐक्टिव स्पोर्ट्स को सेल्फ करने के बाद उन्होंने अपनी सेकंड स्पोर्ट्स और न्यूट्रिशन कंपनी लॉन्च करें, जिसमें वो प्री वर्कआउट सेल करते थे।
ना ये बिज़नेस को भी स्केल करने के लिए उन्होंने इसे एक प्राइवेट कंपनी को भेज दिया, जिसके बाद ही स्टार्टेड वर्किंग ऑन थिस थर्ड वेन्चर ज्योति हेल्थ ऑइल से रिलेटेड और गैस वर्ड इसे भी उन्होंने प्रॉफिटेबल बनाया।
अब यहाँ पे सीखने वाली बात यही है की रेयान ने ऐसी कौन सी बिज़नेस सीखी, अप्लाइ कर ली जिसकी वजह से वो इतने सारे बिज़नेस खड़ा कर पा रहे थे और उसे बेच भी पा रहे थे,
वो भी बस कुछ ही महीनों में तो इसका पहला असर आता है व्हाइट लेबल प्रॉडक्ट। रेयान के सक्सेस का सबसे बड़ा सीक्रेट था की वो चाइना और वियतनाम पे जो ऑनलाइन वेबसाइट्स होती है
जैसे की अलीबाबा। वहाँ से वो लोगो कॉस्ट के प्रोडक्ट्स को मंगवाते थे बल्क में और फिर उसे ऐमज़ॉन पे अपने ब्रैंड का ठप्पा मर गए। हाइ प्रॉफिट्स में उसे बेचते थे।
और ये जो प्रोडक्ट्स होते है, जिसपे आप अपना ठप्पा लगा सकते हो, उन्हें व्हाइट लेबल प्रोडक्ट्स बोला जाता है। इसका क्लासिक एग्ज़ैम्पल है माइक्रोमैक्स कंपनी का जो चाइना की प्राइवेट कंपनी से मोबाइल फ़ोन सिम पोर्ट करवा दी थी और उनके ऊपर माइक्रोमैक्स के ब्रांडिंग करके वो फ़ोन को सील कर देते थे।
मतलब बेसिकली माइक्रोमैक्स कंपनी का कोई मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं था। वो बस ब्रांडिंग करके सेल कर रहे थे और यही चीज़ उधर भी करते थे जो उनका नंबर वन सीक्रेट भी था।
अगर हम वापस बुक की बात करें तो ये बुक को बेसिकली अगर नहीं, तीन स्टेजेस में डिवाइड कराया जो वो बोलते है, आपको फॉलो करना चाहिए। एक मिलियन डॉलर तक पहुंचने के लिए
पहला स्टेज होता है ग्राइंड स्टेज जो स्टार्टिंग के फ़र्स्ट से फोर्थ मंथ के लिए होता है। सेकंड स्टेज होता है ग्रोथ स्टेज ये पांच से नवें महीने तक होता है और थर्ड होता है गोल्ड जो होता है
दसवें से बारहवां महीना ना ये तीनों स्टेज से अगर आपको गुजरना है तो सबसे पहले तो आपको ये क्वेश्चन पूछना है की वो प्रॉडक्ट शुड आई सेल जिसे आप ग्राइंड स्टेज भी बोल सकते हो। पहला स्टेप ना यहाँ पे वो पॉल मिलर का एग्ज़ैम्पल बताता है।
पॉल मिलर एक सक्सेसफुल बिज़नेस मैन थे जिन्हें रात को ना बराबर नींद नहीं आती थी तो वो क्या करते थे, हेडफोन्स लगाकर पॉडकास्ट सुनते रहते थे। जिसे सुनते सुनते वो कई बार सो जाते थे।
लेकिन ये चीज़ करते वक्त उन्होंने रिलाइंस किया की हेड फोन्स का यूज़ करना? सोने के टाइम काफी अनकंफर्टेबल था और ऐसे हेड फोन्स की कई बार क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं होती थी।
उन्हें लगा कि ये हेडफोन्स को ना बेटर बना सकते हैं। इसलिए फिर उन्होंने कुछ क्वालिटीज में हेड फोन्स मंगवाए और उन्हें खोल के उनके ऑडियो, क्वालिटी और बिल्ड क्वालिटी को बेहतर बनाया।
हेडफोन्स को एक्सपेरिमेंट करके और कंफर्टेबल बनाया ताकि आप को सोते टाइम भी म्यूसिक या पोर्ट का सुनना हो तो आप कम्फर्टेबली से सुन सको बिना आपको प्रॉब्लम हुए और यहीं से जन्म हुआ नाम के स्लीपिंग हेड फोन्स का, जो उन्होंने फिर ऐमज़ॉन पे
करना स्टार्ट किया और गैस वर्ड ये चीज़ लोगो को इतनी पसंद आयी की फिर वो बेस्ट सेलिंग प्रॉडक्ट भी बन गया। ऐमज़ॉन पे ऐमज़ॉन पे आते ही उन्होंने कोसी फोन्स को बहुत बड़ी बड़ी क्वांटिटी में सेल करना स्टार्ट किया और फिर 4 साल में बोलने को जी फोन्स को सिक्स मिलियन डॉलर का रेवेन्यू जेनरेट करवाया है
ना ये चीज़ अमेज़िंग बट उन्होंने एक गलती कर दी। उन्होंने अपना प्रॉडक्ट का पेटेंट नहीं करवाया था, जिसकी वजह से कई सारे कॉपीकैट स्ट्रैटिजी यूज़ करने वाले लोग आ गए, जो उनके प्रॉडक्ट को कॉपी करने लग गए थे।
और ये चीज़ काफी कॉमन भी है जहाँ पे लोग किसी भी प्रॉडक्ट के हिट होने का वेट करते हैं और फौरन फिर उसे कॉपी करके वो ही प्रॉडक्ट को सस्ते दाम में बेचने लग जाते हैं।
जिसके वजह से कॉम्पटीशन बहुत बढ़ जाता है और ये चीज़ को बिट करने के लिए पॉल ने क्या किया पता है उन्होंने यहाँ वहाँ पे ज्यादा फोकस करने के बजाय उन्होंने बोला की मैं सिर्फ अपने प्रॉडक्ट को और बेहतर बनाने पर ध्यान दूंगा
जहाँ पे वो बेस्ट से बेस्ट अपना प्रॉडक्ट देंगे और कस्टमर्स को बेस्ट से बेस्ट सर्विस देंगे और इसी अजेंडा के साथ वो आगे बढ़ता रहे। उन्हें पता था अगर वो अपने प्रोडक्ट्स को बेहतर बनाते रहेंगे तो ईज़ी अपने कॉंपिटिटर्स को बिट कर देंगे।
उनके अच्छे रिव्यूज़ की वजह से ऐसे ही उन्होंने स्टार्टिंग में काफी ग्राइंड किया। अपने प्रॉडक्ट को अच्छा विन प्रॉडक्ट बनाने के लिए जीस चीज़ ने उन्हें मिलियन डॉलर कमा के दी। और ऐसे ही कुछ आपको भी स्टार्टिंग में करना पड़ेगा।
यहाँ पे आप देखो कि कौन सा प्रॉडक्ट आप बना सकते हो। ऐसी कौन सी मार्केट में नीड है जो आप खुद से मेहनत करके फुलफिल कर सकते हो, लोगों की जरूरतें पूरी कर सकते हो, उसके ऊपर ग्राइंड करो।
स्टार्टिंग में इट्स ऑल अबाउट द ग्राइंड अगर अच्छे से ग्राइंड करके अच्छा प्रॉडक्ट निकाल देते हो, फिर सेकंड आता है। क्रिएटा सिरीज़ ऑफ प्रोडक्ट्स एंड मेक 25 सेल्स पर दय जिसे बोलते है
ग्रोथ स्टेज एक बार ये आपका एक प्रॉडक्ट बन गया तो उसके बाद आपको मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स पे फोकस करना है। इसके एग्जाम्पल के लिए थरो बीमार कस का बताते हैं, जो एक्चुअल में एक है।
उन्होंने कई मल्टीप्ल वेन्चर्स ट्री किए थे। उनका जो फर्स्ट वेन्चर्स था टौ सन हैंगओवर सप्लिमेंट का उन्हें उसके अंदर ज़रा भी सक्सेस नहीं मिली थी। फुलफिलमेंट भी नहीं मिली थी।
बट गोइंग टु टाइम ओबरी बोलते है ना की वो टाइम में मैं रेडी ही नहीं था। मेरे पास उतनी इन्फॉर्मेशन नहीं थी और बहुत सारी चीज़ो में मैं लैक कर रहा था, जबकि वो भी मुझे बहुत कुछ चीजें सिखाई।
जैसे की तीन इम्पोर्टेन्ट चीज़ है जो मैंने सीखी। अपने से अपने प्रॉडक्ट के हिट ना होने से नंबर वन प्रॉडक्ट क्रिएट कैसे किया जाता है सेकंड उसे सेल कैसे किया जा सकता है और थर्ड उसका ऐड्वर्टाइज़िंग कैसे करें?
ये पूरे प्रोसेसर में उन्होंने बहुत सारे लोगों से नेटवर्क भी करा और नेटवर्क करते करते उनकी मुलाकात के नंबर वन पॉडकास्ट जो हीरो गन से हुई,
जो इन ऑपरेटरों को अपने स्पॉट कास्ट में इनवाइट किया और बातों ही बातों में ओबराय ने अपने टौंस के प्रोडक्ट्स को प्रोमोट कर दिया। जैसे ही जो इन्होंने पूछा कि वॉट आर यू इन टू?
ओबरी ने कहा आई मीन टू न्यू ट्रॉपिक्स बेसिकली एक सप्प्लिमेंट है जो आपके ब्रेन पावर मेमोरी मोटिवेशन फोकस को बूस्ट करता है। ना पॉडकास्ट में नोबरे नहीं बोल दिया की मैं पूरे वर्ल्ड में सबसे बेस्ट टॉपिक्स बना सकता हूँ और यह बना के भी दिखाऊंगा तो
उसी टाइम पे जॉइन है ओबीसी। ये प्रॉमिस लिया की आप है ना बेस्ट ऑन ट्रोपिक सप्लिमेंट बनाके दिखाओ। इसके बाद ओबेरॉय ने बहुत सारे रिसर्च करिए, एक्सपेरिमेंट करें और एक बेस्ट प्रॉडक्ट बना भी दिया और प्रॉडक्ट बनाने के बाद उसे उन्होंने जो हीरोइन को टेस्ट करने के लिए दिया ना, जो ही ने जब उसे ट्री किया तो उन्हें काफी पसंद भी आया।
इसीलिए फिर उन्होंने के साथ पार्टनरशिप करने का डिसिजन लिया और वो अपने सप्लिमेंट को फिर अपने मिलियन फॉलोअर्स के सामने लेके आने लग गए जिसके बाद वो प्रॉडक्ट धड़ाधड़ धड़ाधड़ बिकने लग गया। इस प्रॉडक्ट का नाम था ऐल्फा ब्रेन
जो सेल्स थे। फिर उसकी रॉकेट होने लग गए। इतना ज्यादा ऑर्डर होने लग गया कि उनके पास इनवेंटरी ही नहीं बची और गैसफोर्ड। इसके बाद फिर उन्होंने अपना दूसरा प्रॉडक्ट लॉन्च किया। ये जो दूसरा प्रॉडक्ट था वो रिलेटेड तो मूड था और इस प्रॉडक्ट का नाम उन्होंने रखा
न्यू मूड जो बेसिकली आपका मूड इंप्रूव करने के लिए हेल्प कर सकता है। आपको और यहीं से शुरुआत हुई ऑन इट नाम की कंपनी की, जिसके अंदर मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स को वो सेल करके मिलियन डॉलर्स कमा रहे हैं।
ऐसे ही सेकंड स्टेज मैं एक बार जब आपको समझ में आ जाता है कि एक प्रॉडक्ट कितना हिट हो सकता है तो ऐसे ही आप मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स क्रिएट करना स्टार्ट करो। उसी नीच से रिलेटेड या उससे अलग भी चलेगा।
बस अगर आपके पास मल्टीप्ल प्रोडक्ट्स है जिसे आप सेल करोगे तो वो सारे कंबाइन करके आपको काफी अच्छा रेवेन्यू दे सकते हैं।
आप ये चीजें आपको फोकस करना है पांचवें से नवें महीने तक और फिर आता है लास्ट स्टेज जिसे बोलते है गोल्ड स्टेज जहाँ पे आप यूज़ कर सकते हो ऐडवर्टाइजमेंट का इस स्टेज पे आपका मैक्सिमम फोकस प्रॉडक्ट को एडवर्टाइज और मार्केट करने में होना चाहिए।
ये स्टेज में आपको गूगल ऐड्स, फेसबुक ऐड्स या किसी को पे करके अपने प्रॉडक्ट को जितना हो सकता है, उतना प्रोमोट करवाना चाहिए ताकि उसे अच्छे से अच्छी मार्केटिंग हो सके और वो मिलन ऑफ कस्टमर्स तक रीच कर सके। यहाँ पे आपकी क्रेडिबिलिटी भी इस्टैब्लिश हो जाती है।
ये प्रोसेसर आपको कॉस्टली लगेगा। इस प्रोसेसर में आपको कॉन्स्टेंट ली री इनवेस्ट करना पड़ेगा ताकि आप उसे बड़े स्केल पे लेके जा सको और ज्यादा पैसे कमा सको ना स्टार्टिंग स्टेज में। अगर आपने अच्छे से ग्राइंडिंग करी है,
अच्छे प्रॉडक्ट क्रिएट किया है तो इस स्टेज में आपको काफी अच्छा रिवॉर्ड भी मिलेंगे और इसके साथ साथ आपको दो चीज़ और करनी है जो फ़ोर पॉइंट है। लेकिन ये प्रॉडक्ट फॉर हाइर ट्री फिटनेस के ओनर किंग मैंने ऐमज़ॉन पे अपना प्रॉडक्ट रजिस्टर करके लिस्ट कर दिया था। ये एक सेलफोन आम बैंड प्रॉडक्ट था जो उन्होंने चाइना से व्हाइट लेबल किया था।
इसके लिए उन्होंने सिर्फ 400 प्रोडक्ट्स को इंपोर्ट करवाया था। क्योंकि उनको पहले पता करना था की ये प्रॉडक्ट सेल्फ कर भी सकते है की नहीं और कस्टमर रिव्यु सबसे इम्पोर्टेन्ट होते हैं।
इसलिए उन्होंने पहले कुछ ही प्रोडक्ट्स को इंपोर्ट करवाया फिर कस्टमर्स के आउटपुट लिए और उसके हिसाब से चेंज कर रहा है।
जैसे की फॉर एग्जाम्पल। पहले बैच में कस्टमर्स को आम बैन्डस बहुत छोटे लग रहे थे। दूसरे बैच में आमस बैंड का साइज काफी बढ़ा दिया गया था।
बट फिर ऐसे ही चेंज करते करते उन्हें परफेक्ट साइज भी मिल गया। ऐसे ही कस्टमर से फीडबैक लेते लेते उन्होंने ऐसा आम वेब डिजाइन कर दिया जो कस्टमर्स पहन के बहुत खुश थे और इसी तरीके से
जो ट्रिप फिटनेस के थे वो मार्केट प्लेस में एक यूनीक प्रॉडक्ट बन गया। ट्री फिटनेस से तीन महीने में ही उस 25 सेल्स पर डे के मैजिक नंबर को क्रॉस कर दिया।
और ये सब कैसे हुआ? जस्ट बिकॉज़ उन्होंने अपने पार्टनर के साथ बहुत सारे एक्सपेरिमेंट करें। अपने प्रोडक्ट्स को इम्प्रूव करा और साल के एंड में अपने कॉंपिटिटर्स के कंपैरिजन में 4% पॉज़िटिव रिव्यु ले लिए, जिसने कई बार सारा गेम बदल दिया और लास्ट पॉइंट आता है सीक्रेट।
ये एक सीक्रेट ने रेयान मोरिन को बनने में काफी हेल्प करी प्रॉडक्ट को होलसेल में खरीदते थे और ऐमज़ॉन यहाँ पे रजिस्टर करके हाइ प्रॉफिट मार्जिन में बेच देते थे। अब ऐमज़ॉन एफबी क्या होता है
तो बेसिकली ऐमज़ॉन एफबी पे। अगर आप एक सेलर रजिस्टर करते हो तो ऐमज़ॉन आपको स्टोरेज, फ्री शिपिंग, फास्ट डिलिवरी और बहुत सारी फैसिलिटीज प्रोवाइड करता है, जिससे वो सिम्पली चीप रेट्स पे प्रॉडक्ट खरीदते हैं और फिर ऐमेज़ौन पे हाई मार्जिन पेरी सेल कर देते हैं और कहते हैं,
इनीशियली आपको डिफिकल्टी जाएगी बहुत डीप रिसर्च करना, नॉलेज लेना ये सारी चीज़े होती रहेंगी। लेकिन बस आपको वो मैजिक नंबर हमेशा याद रखना है जो है 25 सेल्स पर दय जिसका कॉस्ट होना चाहिए।
इतना और ये अगर आप कर लोगे तो आप उन मैजिक नंबर उसको अचीव कर लोगे। साल के एंड तक उससे पहले भी ना ये थी एक शॉर्ट्स मेरी 12 मंथ्स टु वन मिलियन डॉलर्स की।
अगर आप ऐसे ही बुक्स मरीज में इंट्रेस्टेड हो तो इस चैनल को सब्सक्राइब करके बेल्ल आइकॉन जरूर दबाना। मैं ऐसे ही अमेज़िंग समरी आपके लिए हर हफ्ते लेके आता रहूंगा।
प्लस अगर आपको अपने अंदर बुक रीडिंग की हैबिट को डालना है तो मैंने उस डिस्क्रिप्शन में बुक क्लब की लिंक भी दी है जो एकदम फ्री टु रजिस्टर है। वहाँ से जाके आप हमारी कम्युनिटी का पार्ट बन सकते हो।
जहा हम लोग कई सारी चीजें आपको फ्री में प्रोवाइड कर रहे हैं तो उसे भी जरूर चेक आउट करो। अभी के लिए बस इतना ही अगर आपको ये वीडियो पसंद आया तो लाइक, कमेंट शेयर जरूर करना।
ताकि हमारी जो बुक कम्यूनिटी है वो बढ़ सके लोगों में बुक पढ़ने का शौक पैदा हो सके जो काइंड ऑफ मेरा मिशन भी है मिशन इसलिए बिकॉज़ रीडिंग ने पर्सनली मेरी लाइफ को कंप्लीट्ली चेंज कर दिया है हेल्थ वेल्थ लव एंड हैपिनेस हर सेगमेंट में मैं जानता हूँ
कि अगर आप लोग भी रीड करना स्टार्ट करोगे तो ये एक हैबिट ये सिंगल कीस्टोन हैबिट आपकी लाइफ कम्पलीटली चेंज कर सकता है इसलिए खुद भी रेड करो और दूसरे के अंदर भी रीडिंग की हैबिट डालो इस चैनल का पार्ट बन के हमारी कम्युनिटी का पार्ट बन के अभी के लिए बस इतना ही मिलता है नेक्सट Blog में एक समरी के साथ टिल देन बाइ

1 thought on “12 month One Million-book Summery In Hindi”

Leave a Comment